विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने दावा किया कि त्योहार के दिन कुछ छात्रों ने हवन पर आपत्ति जताई थी जिसके बाद हिंसा हुई। आरएसएस से जुड़ी एबीवीपी ने भी यही दावा किया है। Source link