Raj Thackeray Ayodhya Visit: BJP MP Brijbhushan Sharan Singh Road show against MNS chief visit | ‘मैं पहले राम का वंशज, और सबसे बाद में बीजेपी सांसद’, राज ठाकरे पर क्यों खफा हैं बृजभूषण?


Image Source : PTI FILE
Brijbhushan Sharan Singh and Raj Thackeray.

गोंडा: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना सुप्रीमो राज ठाकरे के 5 जून को अयोध्या के प्रस्तावित दौरे के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह उतर आए हैं। पिछले कई दिनों से राज के ऐलान का विरोध कर रहे बृजभूषण ने मंगलवार को शक्ति प्रदर्शन करते हुए रोड शो किया। सिंह ने ठाकरे के विरोध को बीजेपी से इतर अपना निजी मामला बताते हुए ऐलान किया कि ‘मैं स्पष्ट कर दूं, मेरे इस विरोध का मेरी पार्टी से कोई लेना देना नहीं है, मैं पहले राम का वंशज हूं, फिर उत्तर भारतीय और सबसे बाद में भारतीय जनता पार्टी का सांसद।’

‘राज ठाकरे दबंग नहीं हैं, वह चूहा हैं चूहा’


राज ठाकरे के प्रस्तावित अयोध्या दौरे के विरोध में लोगों को एकजुट करने की नीयत से बीजेपी सांसद ने विश्नोहरपुर के अपने पैतृक आवास से नंदिनी नगर महाविद्यालय तक शक्ति प्रदर्शन करते हुए विशाल काफिले के साथ रोड शो किया। उन्होंने लोगों से अपील की कि राज ठाकरे के अयोध्या आगमन पर डटकर विरोध करें। राज ठाकरे पर बरसते हुए बीजेपी सांसद ने कहा, ‘राज ठाकरे दबंग नहीं हैं, वह चूहा हैं चूहा।’ बृजभूषण ने दावा किया कि उन्हें मराठों का समर्थन प्राप्त है और वह छत्रपति शिवाजी महराज को अपना आदर्श मानते हैं।

‘मराठों के स्वागत में जान तक दे दूंगा, लेकिन…’

कैसरगंज से बीजेपी सांसद बृजभूषण ने कहा कि मराठे आएंगे तो वह उनके स्वागत में अपनी जान तक दे देंगे, लेकिन उनका विरोध केवल एक व्यक्ति (राज ठाकरे) से है, पूरे मराठा समुदाय से नहीं। उन्होंने कहा कि वह राज ठाकरे से पूछना चाहते हैं कि महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों का उत्पीड़न क्यों है? उन्होंने दावा किया कि राज ठाकरे यदि उत्तर भारतीयों से माफी नहीं मांगेंगे तो आज की बात तो छोड़िए, अपने पूरे जीवन काल में कभी भी यदि राज ठाकरे यूपी, बिहार और झारखंड की धरती पर उतरना चाहेंगे तो उत्तर भारतीय उनका पुरजोर विरोध करेगा।

‘ठाकरे को अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं देंगे’

इसके पहले 5 मई को बृजभूषण शरण सिंह ने MNS सुप्रीमो राज ठाकरे के 5 जून को प्रस्तावित अयोध्या दौरे का विरोध करते हुए टृवीट किया, ‘जब तक वह उत्तर भारतीयों से सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांग लेते तब तक उन्हें अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं देंगे।’ राम मंदिर आंदोलन के अग्रणी नेताओं में से एक बृजभूषण ने ट्वीट किया, ‘उत्तर भारतीयों को अपमानित करने वाले राज ठाकरे को अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं दूंगा। अयोध्या आने से पहले सभी उत्तर भारतीयों से हाथ जोडकर माफी मांगें राज ठाकरे।

‘राम मंदिर आंदोलन से ठाकरे परिवार का लेना-देना नहीं’

अपने ट्वीट में उन्होंने आगे कहा, ‘जब तक राज ठाकरे सार्वजनिक रूप से उत्तर भारतीयों से माफी नहीं मांग लेते, मेरा आग्रह है तब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को राज ठाकरे से नहीं मिलना चाहिए।’ राम मंदिर आंदोलन का जिक्र करते हुए सांसद ने कहा कि राम मंदिर आंदोलन से लेकर मंदिर निर्माण तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, विश्व हिंदू परिषद और आमजन की ही भूमिका रही है, ठाकरे परिवार का इससे कोई लेना-देना नहीं। बता दें कि पिछले 17 अप्रैल को राज ठाकरे ने पुणे में कहा था कि वह भगवान राम के दर्शन करने के लिए 5 जून को अयोध्या जाएंगे।





Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.