Maharashtra Uddhav government in danger? Ajit Pawar counterattack on Nana Patole statement | खतरे में है महाराष्ट्र की उद्धव सरकार? नाना पटोले के बयान पर अजीत पवार का पलटवार


Image Source : FILE
Maharashtra Congress President Nana Patole and Deputy CM Ajit Pawar.

मुंबई: महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार के घटक दलों में फिलहाल सबकुछ ठीक नजर नहीं आ रहा है। गठबंधन की 2 पार्टियों, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेताओं के बीच पिछले कुछ दिनों से वाकयुद्ध जारी है।  महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने गुरुवार को NCP पर हमला जारी रखते हुए आरोप लगाया कि शरद पवार के नेतृत्व वाली पार्टी ने भंडारा और गोंदिया जिले में स्थानीय चुनाव में धोखा दिया है। इससे पहले गुरुवार को एनसीपी के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने पटोले के बयान की निंदा की और कहा कि महा विकास आघाडी गठबंधन का एकजुट रहना जरूरी है।

‘यह पीठ में छुरा घोपना नहीं तो क्या था?’


एनसीपी पर धोखा देने का आरोप लगाते हुए पटोले ने कहा, ‘महा विकास आघाडी के घटक दलों के बीच लिखित समझौते का उल्लंघन करना और भंडारा तथा गोंदिया जिला परिषदों में अध्यक्ष और चेयरमैन के पदों के लिए भारतीय जनता पार्टी के साथ हाथ मिलाना धोखा देने जैसा था। यह पीठ में छुरा घोंपना नहीं था तो और क्या था। मेरा पॉलिटिकल बैकग्राउंड कोई सीक्रेट नहीं है। मैं जो करता हूं, खुलकर करता हूं।’ पटोले ने कहा कि भंडारा और गोंदिया जिला परिषद चुनाव के बाद MVA की सभी 3 मुख्य पार्टियों ने 30 जनवरी को एक जॉइंट स्टेटमेंट जारी किया था।

‘मैं जयंत पाटिल और प्रफुल्ल पटेल के संपर्क में था’

कांग्रेस नेता ने कहा कि इस जॉइंट स्टेटमेंट में तीनों पार्टियों ने कहा था कि गठबंधन जिला परिषद के चुनाव लड़ेगा और इसके लिए स्थानीय इकाइयां काम करेंगी। उन्होंने कहा, ‘जिला परिषद अध्यक्ष और चेयरमैन के चुनाव के लिए मैं लगातार महाराष्ट्र एनसीपी के अध्यक्ष जयंत पाटिल और प्रफुल्ल पटेल के संपर्क में था। लेकिन एनसीपी ने फैसला लेने में देरी की और अंत समय में बीजेपी के साथ हाथ मिला लिया। मैं इसकी जानकारी पार्टी आलाकमान को दूंगा कि एनसीपी ने हमारे साथ कैसा व्यवहार किया।’

‘नाना बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे’

वहीं, अजित पवार ने पटोले के ‘पीठ में छुरा घोंपने’ वाले बयान को ‘हास्यास्पद’ करार दिया। गोंडिया जिला परिषद के चुनाव में कांग्रेस को सत्ता से दूर रखते हुए शरद पवार की अगुवाई वाली पार्टी के प्रतिद्वंद्वी बीजेपी से हाथ मिलाने के एक दिन बाद पटोले ने सहयोगी NCP पर ‘पीठ में छुरा घोंपने’ का आरोप लगाते हुए MVA खेमे में बुधवार को विवाद पैदा कर दिया था। पवार ने कहा ‘नाना का बयान हास्यास्पद है। आप सभी जानते हैं कि वह बीजेपी छोड़ने के बाद कांग्रेस में शामिल हुए थे। तो, क्या बीजेपी को यह आरोप लगाना चाहिए कि उन्होंने कांग्रेस में शामिल होने के लिए पीठ में छुरा घोंपा है?’





Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.