LIC IPO के निवेशक हैं तो ऐसे चेक कर पाएंगे अपना अलॉटमेंट, 12 मई को पता चलेगा शेयर मिले या नहीं If you are an investor of LIC IPO, then you will be able to check your allotment in this way


Photo:FILE

LIC IPO

LIC IPO: भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) में बोलियां लगाने वाले निवेशकों को कंपनी के शेयर 12 मई को आवंटित किए जाएंगे। शेयर बाजारों में एलआईसी के शेयर 17 मई को सूचीबद्ध होंगे। निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहीन कांत पांडेय ने कहा कि एलआईसी के आईपीओ को सभी खंडों में निवेशकों का तगड़ा समर्थन मिला है। उन्होंने कहा, घरेलू निवेशकों ने एलआईसी के आईपीओ को सफलतापूर्वक अंजाम तक पहुंचाया है। यह आत्मनिर्भर भारत का उदाहरण है। उन्होंने कहा कि अब विदेशी निवेशकों पर निर्भरता नहीं रही। पांडेय ने कहा, आईपीओ में बोलियां लगाने वालों को 12 मई को शेयर आवंटित किए जाएंगे। इसके साथ ही एलआईसी के शेयर को शेयर बाजारों में 17 मई को सूचीबद्ध किया जाएगा। 

 

इस तरह चेक कर पाएंगे अलॉटमेंट

 

BSE की वेबसाइट के माध्यम से इस तरह चेक करें 

 

2. मेनू में एलआईसी आईपीओ चुनें

3. एलआईसी आईपीओ के लिए आवंटित अपना आवेदन नंबर दर्ज करें

4. इसके बाद अपना परमानेंट अकाउंट नंबर (पैन कार्ड नंबर) दर्ज करें

5. ‘मैं रोबोट नहीं हूं’ पर क्लिक करें और कैप्चा की पुष्टि करें

6. अब अंत में ‘सबमिट’ बटन पर क्लिक करें। आप स्क्रीन पर प्रदर्शित एलआईसी आईपीओ आवंटन स्थिति देख पाएंगे।

 

एनएसई के माध्यम से ऐसे चेक करें 

 

1. एनएसई की आधिकारिक वेबसाइट www.nseindia.com पर क्लिक करें 

2. इसके बाद “इक्विटी” विकल्प पर क्लिक करें और ड्रॉप-डाउन मेनू में एलआईसी आईपीओ का चयन करें

3. आप अपना आवेदन और पैन कार्ड नंबर दर्ज करें

4.  इसके बाद “मैं रोबोट नहीं हूं” और कैप्चा की पुष्टि करें

5. वैरिफिकेशन को पूरा करने के बाद आप अपने एलआईसी आईपीओ शेयर अलॉटमेंट देख पाएंगे 

 

विदेशी निवेशकों की ठंडी प्रतिक्रिया 

एलआईसी का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) सोमवार को करीब तीन गुना अभिदान के साथ बंद हुआ। घरेलू निवेशकों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया जबकि विदेशी निवेशकों की प्रतिक्रिया ‘ठंडी’ रही। यह देश के इतिहास का सबसे बड़ा आईपीओ है। देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी में सरकार को अपनी 3.5 फीसदी हिस्सेदारी की बिक्री से 20,500 करोड़ रुपये मिले। हालांकि, विदेशी निवेशकों की कम भागीदारी को सरकार ने ज्यादा तवज्जो न देते हुए कहा कि यह ‘आत्म-निर्भर भारत’ का एक उदाहरण है और निर्गम को निवेशकों के विभिन्न वर्गों का तगड़ा समर्थन मिला है। एलआईसी के आईपीओ के तहत 16,20,78,067 शेयरों की पेशकश की गई थी लेकिन इसकी तुलना में 2.95 गुना बोलियां लगाई गई हैं। शेयर बाजारों पर शाम सात बजे तक उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक, इन शेयरों के लिए निवेशकों की तरफ से 47,83,25,760 बोलियां लगाई गईं।





Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.