पाक PM शहबाज के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच करने वाले जांचकर्ता का निधन । Pakistan News Investigator who probed money laundering charges against Shahbaz dies


Image Source : PTI (FILE PHOTO)
Shehbaz Sharif

Highlights

  • 47 वर्षीय रिजवान का दिल का दौरा पड़ने से निधन
  • शहबाज सरकार के गठन से ठीक पहले लंबी छुट्टी पर चले गए थे रिजवान

Pakistan News: पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी के पूर्व निदेशक मोहम्मद रिजवान का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। उन्होंने मौजूदा प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और उनके बेटे हमजा शहबाज के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच की थी। डॉन न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, रिजवान पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार के गठन से ठीक पहले लंबी छुट्टी पर चले गए थे और बाद में उन्हें पिछले महीने एफआईए लाहौर के कार्यालय से स्थानांतरित कर दिया गया था। उनका नाम भी नो फ्लाई लिस्ट में था।

पुलिस सेवा से ताल्लुक रखते थे रिजवान


परिवार के एक सदस्य के अनुसार, 47 वर्षीय रिजवान को सोमवार तड़के दिल का दौरा पड़ा और उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। रिजवान पुलिस सेवा से ताल्लुक रखते थे और उनके पास डीआईजी का पद था। एफआईए लाहौर प्रमुख के रूप में अपनी पोस्टिंग के दौरान रिजवान ने चीनी कारोबारी जहांगीर खान तारीन (जो वर्तमान में सत्तारूढ़ पीएमएल-एन का समर्थन कर रहे हैं) और पूर्व संघीय उद्योग मंत्री खुसरो बख्तियार और उनके परिवार के सदस्यों और मीडिया घरानों के दो चीनी मिलों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और बाजार की गतिविधियों में हेरफेर के आरोपों की भी जांच की थी।

शहबाज परिवार के 28 बेनामी खातों का पता लगाया था

रिजवान के तहत एफआईए जांचकर्ताओं ने पीटीआई शासन के दौरान चीनी माफिया द्वारा ‘सट्टा मूल्य निर्धारण’ के माध्यम से 110 अरब रुपये की कमाई का पता लगाया था। चीनी घोटाले में आगे की कार्रवाई राजनीतिक कारणों से रोक दी गई थी। मनी लॉन्ड्रिंग जांच में, रिजवान के तहत जांच दल ने शहबाज परिवार के 28 बेनामी खातों का पता लगाया था, जिसके माध्यम से 2008-18 के दौरान 14 अरब से अधिक पीकेआर (पाकिस्तानी रुपया) की मनी लॉन्ड्रिंग की गई थी। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, शहबाज द्वारा कम वेतन वाले कर्मचारियों के खातों से प्राप्त धन को हुंडी/हवाला नेटवर्क के माध्यम से पाकिस्तान के बाहर स्थानांतरित कर दिया गया था, जो अंतत: उनके परिवार के सदस्यों के लाभकारी उपयोग के लिए था।

इमरान खान ने जताया शोक

पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने रिजवान के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, “डॉ. रिजवान के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ, जिन्होंने जांच के दौरान दबाव का सामना किया और ‘अपराध मंत्री एसएस’ के खिलाफ 16 अरब रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले को संभाला। मेरी संवेदना और प्रार्थना उनके परिवार के साथ है।”





Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.