अचानक सबके सामने रोने लगे नरेंद्र मोदी, जानें अयूब भाई की बेटी ने PM से ऐसा क्या कह दिया? । PM Modi Cries after hear about blind man ayub daughter dream


Image Source : TWITTER
PM Modi

Highlights

  • पीएम मोदी भरूच में आयोजित उत्कर्ष समारोह को किया संबोधित
  • नेत्रहीन सरकारी योजना के लाभार्थी को सुन भावुक हो उठे पीएम मोदी

PM Modi Cries: आज एक लाइव प्रोग्राम के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आंखों में आंसू आ गए और वो इमोशनल हो गए। कुछ सेकेंड के लिए पूरे प्रोग्राम में सन्नाटा पसर गया, सब खामोश रहे। ये प्रोग्राम लाइव चल रहा था और देश प्रधानमंत्री के एक मुस्लिम बच्ची के लिए जज़्बात देख रहा था। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात के भरूच में आयोजित उत्कर्ष समारोह को संबोधित किया। इस समारोह का आयोजन भरूच जिले में राज्य सरकार की चार प्रमुख सरकारी योजनाओं के सफल होने पर किया गया था। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने एक नेत्रहीन सरकारी योजना के लाभार्थी से बात की, इस दौरान जो बात हुई उसे सुन पीएम मोदी भी भावुक हो उठे।

एक मुस्लिम ने प्रधानमंत्री को शुक्रिया क्यों कहा?


अयूब पटेल की आंखों की रोशनी धीरे-धीरे चली गई, उन्हें ग्लूकोमा हो गया है। इसपर पीएम ने पूछा कि क्या वह अपनी बेटियों को शिक्षा देते हैं? जवाब आया कि उनका जितना भी सामर्थ्य है, उस हिसाब से वे अपनी बच्चियों को पढ़ा रहे हैं। उन्होंने बताया कि उनकी तीन बेटियां हैं, इसमें से कक्षा एक में पढ़ने वाली बच्ची को आरटीई के तहत प्रवेश मिल गया है और उसकी अब 8वीं तक पढ़ाई फ्री है। इस पर पीएम ने बाकी दो बेटियों के बारे में पूछा जिसपर अयूब ने बताया कि दोनों बेटियों को स्कॉलरशिप मिलती है। बड़ी बेटी का रिजल्ट आया है, उसे 80 पर्सेंट मिले हैं। इसके बाद पीएम मोदी ने अयूब की बेटी से बात की।

देखें वीडियो-

आपको बता दें कि भरूच के अयूब भाई पटेल उन 13 हज़ार से ज़्यादा लोगों में से हैं, जिन्हें सरकारी योजनाओं का फ़ायदा मिला है, जिन्हें पेंशन मिल रही है और उनकी बेटियों को वज़ीफ़े मिल रहे हैं। सरकारी योजनाओं का लाभ मिलना एक बात है और जिन लोगों को सरकारी मदद की जरूरत है उनकी भावनाओं को समझना, उनकी कद्र करना ये दूसरी बात है। ये तीन मिनट की बातचीत इसका सबूत है। आलिया और अयूब ने प्रधानमंत्री मोदी से बात की लेकिन इस दौरान जिन लोगों ने मोदी का ये भावुक रूप देखा वो जिन्दगी भर इसे नहीं भूल पाएंगे। जिस वक्त प्रोग्राम चल रहा था उसी दौरान आलिया ने कहा कि उसे इस बात सुकून है कि प्रधानमंत्री ने सैकड़ों किलोमीटर दूर बैठकर भी उसके दिल की बात सुन ली।

आलिया के पिता अयूब ने उन 13 हजार से ज्यादा लोगों में से हैं, जिन्हें सरकारी योजनाओं का फायदा मिला है। वो तो अपनी बंद आंखों से मोदी के आंसू नहीं देख पाए। अयूब भाई जानते हैं कि मोदी की वजह से उनकी तीन बेटियों को वजीफा मिल रहा है। उन्हें पेंशन मिल रही है, मुफ्त राशन मिल रहा है, रेलवे और सरकारी बस का पास मिला हुआ है। वो तो बस इतना जानते हैं कि अगर सरकार की मदद ना मिलती तो जिंदगी में अंधेरे के सिवा कुछ नहीं था।

प्रधानमंत्री मोदी और अयूब भाई पटेल के बीच ये हुई बातचीत-

अयूब भाई पटेल- जब से आप आए हैं सरकार में तब से स्कॉलरशिप मिल रहा है..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- कितना स्कॉलरशिप मिलता है..

अयूब भाई पटेल- बड़ी लड़की को 10 हजार रुपया.. और छोटी लड़की को 8 हजार रुपया..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- इन बेटियों ने क्या सोचा है.. पढ़कर क्या करना चाहती हैं..

अयूब भाई पटेल- बड़ी लड़की का अभी रिजल्ट आया है.. अभी 10 बजे.. 80 परसेंट नंबर आया है.. और डॉक्टर बनना चाहती है..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- डॉक्टर बनना चाहती है.. वहां है क्या.. आपके साथ बैठी है क्या..

अयूब भाई पटेल- हमारे साथ में बैठी है..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- कौन है.. बताओ बेटा क्या नाम है..

अयूब भाई पटेल- आप उनको आशीर्वाद दीजिए सर जी..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- मेरा आशीर्वाद है.. क्या नाम है बेटा..

आलिया- आलिया

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- बेटा बताइये, डॉक्टर बनने का मन में विचार आया..

आलिया-  पापा की प्रॉब्लम को देखकर..

अयूब भाई पटेल- उससे नहीं बोला जाएगा.. वो थोड़ा भावुक हो गई है..

अयूब भाई पटेल- वो थोड़ा भावुक हो गई है.. तो नहीं बोल सकेगी सर जी..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- ऐसा है.. बेटी को..

आलिया- नहीं बोल पाऊंगी..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- बेटी तुम्हारी ये जो संवेदना है न.. वही तुम्हारी ताकत है..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- इस बार ईद कैसे मनाई..रमजान कैसा रहा..

अयूब भाई पटेल-बहुत अच्छी तरह से मनाया…सबसे मिलजुल कर मनाया

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री-तो ईद में बेटियों को क्या दिया

अयूब भाई पटेल-ईद में उनको पैसा दिया..और कपड़े लाए..और जरूरत की चीजें लाए

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- देखिए ये बेटियों का सपना पूरा करना..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- और कुछ कठिनाई हो तो मुझे भी बताना..

अयूब भाई पटेल-  ठीक है सर जी..

नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री- आप अपनी शारीरिक जो पीड़ा है उसको शक्ति में बदल रहे हो, और बेटियों को डॉक्टर बनाना बेटी के मन में विचार आना कि पिताजी की इस प्रेरणा ने मुझे डॉक्टर बनने की प्रेरणा दी.

अयूब भाई पटेल-सर दिल्ली तो बहुत दूर है..कई सौ किलोमीटर. लेकिन वहां बैठे-बैठे आप हमारी चिंता करते हैं इसके लिए आपका धन्यवाद… आप जिस तरह से देश के विकास के लिए दिन रात लगे हुए हैं उसके लिए मैं अंतरात्मा से आपका बहुत धन्यवाद करता हूं। आपने विकलांग शब्द ख़त्म करके दिव्यांग शब्द दिया… हमारा गौरव बढ़ाया इसके लिए हम आपका धन्यवाद करते हैं।





Source link

Add a Comment

Your email address will not be published.